होशंगाबाद को 30 मई तक कोरोना मुक्त बनाए,सर्वे में कोई भी घर न छूटे - कृषि मंत्री श्री पटेल

होशंगाबाद को 30 मई तक कोरोना मुक्त बनाए,सर्वे में कोई भी घर न छूटे - कृषि मंत्री श्री पटेल

हितग्राहियों को खाद्यान्न वितरण में पूरी पारदर्शिता बरते

कोई भी व्यक्ति भूखा न सोए

कृषि मंत्री श्री पटेल ने की होशंगाबाद में कोविड की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा

होशंगाबाद/ 18 मई, 2021/ किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री मध्यप्रदेश शासन श्री कमल पटेल ने कहा कि कोरोना संक्रमण पर प्रभावी रोकथाम के लिए प्रदेश में व्यापक स्तर पर किल कोरोना अभियान चलाया जा रहा हैं। उन्होंने कहा कि अभियान के तहत गठित सर्विलांस टीम के साथ वार्ड स्तर पर मोहल्ला एवं ग्राम स्तर पर समितियां गठित की जाए। जिनके द्वारा घर - घर जाकर सर्दीखांसी बुखार के मरीजों को चिन्हित कर मेडिकल किट का वितरण किया जाए। होशंगाबाद जिले को 30 मई तक कोरोना मुक्त बनाने के लिए प्रशासनजनप्रतिनिधिसामाजिक संगठन एकजुट होकर विशेष प्रयास करें। उन्होंने कहा कि  केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा दिए जाने वाले 5 माह का निशुल्क राशन का लाभ सभी पात्र हितग्राहियों को मिले। जिले की सभी 441 उचित मूल्य दुकानों से खाद्यान्न का पूरी पारदर्शिता के साथ वितरण किया जाए। कोई भी व्यक्ति भूखा न सोए ।यह बात कृषि मंत्री श्री पटेल ने होशंगाबाद जिले में कोविड प्रबंधन की समीक्षा बैठक में कहीं। कृषि मंत्री श्री पटेल ने मंगलवार को होशंगाबाद जिले के कलेक्ट्रेट सभागार में कोविड   नियंत्रण किल कोरोना अभियानवैक्सीनेशन कार्यक्रमखाद्यान्न वितरण कार्य की विस्तृत समीक्षा की। बैठक में विधायक होशंगाबाद डॉ सीतासरन शर्माविधायक सोहागपुर श्री विजय पाल सिंहविधायक सिवनीमालवा श्री प्रेम शंकर वर्माविधायक पिपरिया श्री ठाकुर दास नागवंशीकलेक्टर श्री धनंजय सिंहपुलिस अधीक्षक श्री संतोष सिंह गौरजिला पंचायत सीईओ श्री मनोज सरियामश्रीमती माया नारोलियाश्री माधव दास अग्रवालश्री सुधीर तिवारी उपस्थित रहे।

वैक्सीनेशन कार्यक्रम को जन आंदोलन बनाएं

कृषि मंत्री श्री पटेल ने कहा कि जिले में प्रतिदिन लक्ष्य अनुरूप शत प्रतिशत नागरिकों का टीकाकरण किया जाए। डोज बचने की दशा में पंजीकृत नागरिकों को वैक्सीन लगवाई जाएइसमें फ्रंटलाइन वर्कर एवं कोरोना से निपटने के लिए मैदानी स्तर पर जुटे शासकीय कर्मचारियों को प्राथमिकता दी जाए। वैक्सीन की एक भी डोज बर्बाद ना हो यह सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जिस व्यक्ति को पहला डोज जिस सेंटर पर लगा है उसी सेंटर पर दूसरा डोस लगे इसकी व्यवस्था की जाए। सेंटर की संख्या और लक्ष्य बढ़ाएं। वैक्सीनेशन के संबंध में सत्र स्थल सहित अन्य जानकारी प्रतिदिन सांसद एवं सभी विधायकों  को दी जाए।  बैठक में बताया गया कि अभी तक जिले में 1 लाख 46 हजार नागरिकों को वैक्सीन कि प्रथम एवं द्वितीय डोज लगाई जा चुकी हैं। कृषि मंत्री श्री पटेल ने कहा वैक्सीनेशन कार्यक्रम को जन आंदोलन बनाएं।

सभी उपचार उपकरण सुचारू रहें

कृषि मंत्री श्री पटेल ने कहा कि जिला चिकित्सालय सहित समस्त स्वास्थ्य केंद्रों में स्थित उपचार एवं जांच उपकरण सुचारू रहें। विधायक निधि एवं अन्य विभिन्न शासकीय मदों से अनुशंसित उपचार उपकरण/ सामग्री  नॉर्म्स अनुरूप शीघ्र क्रय किए जाने के निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिए। कृषि मंत्री श्री पटेल ने कहा कि होशंगाबाद संभाग मुख्यालय में स्वास्थ्य सुविधाएं सर्वसुविधा युक्‍त हो। उपचार के लिए आवश्यक उपकरण /सामग्री एवं अन्‍य व्‍यवस्‍थाओं के लिए माइनिंग फंड का भी उपयोग करें। कृषि मंत्री श्री पटेल ने कहा कि फंड की कोई कमी नहीं हैराज्य सरकार द्वारा भी हर संभव सहायता उपलब्ध कराई जा रही है।

हॉटस्पॉट क्षेत्रों में विशेष अभियान चलाएं

कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने कहा कि जिले के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में जहां अधिक संक्रमण हैऐसे हॉटस्पॉट क्षेत्रों में सघन अभियान चलाया जाकर संक्रमित एवं संभावित कोविड मरीजों को आइसोलेट कर मेडिकल किट का वितरण किया जाए।

राशन वितरण में गड़बड़ी करने वालो पर कड़ी कार्रवाई करें

कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा 2 माह एवं राज्य सरकार द्वारा 3 माह इस तरह हितग्राहियों को 5 माह के निशुल्क खाद्यान्न वितरण की व्यवस्था की गई हैं। उन्होने कहा कि शत प्रतिशत हितग्राहियों को निशुल्क खाद्यान्न वितरण का लाभ मिले यह सुनिश्चित करें। राशन वितरण कार्य की सभी स्तर पर सतर्कता व निगरानी समिति द्वारा सघन मॉनिटरिंग की जाए किसी भी स्तर पर लापरवाही पाए जाने पर संबंधित के विरुद्ध एफआईआर सहित अन्य कड़ी कार्रवाई की जाए।

गेहूं खरीदी की समीक्षा

मंत्री श्री कमल पटेल ने जिले में गेहूं उपार्जनपरिवहन एवं भंडारण की विस्तृत समीक्षा की। बैठक में बताया गया कि जिले में 8 लाख 50 हजार  मीट्रिक टन गेहूं खरीदी के लक्ष्य के विरुद्ध अभी तक 780000 मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी की जा चुकी है। जिले में 97 प्रतिशत परिवहन किया जा चुका है। कृषि मंत्री श्री पटेल ने कहा कि खरीदी से कोई भी पंजीकृत किसान वंचित ना रहे यह सुनिश्चित करें। शेष बचे सभी किसानों को एस एम एस भेजे जाकर उनकी खरीदी शीघ्र सुनिश्चित कराएं।

 

व्यवस्थाओं से हुए संतुष्ट

बैठक में पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से जिले में प्रशासन द्वारा  कोविड नियंत्रण एवं कोविड मरीजों के बेहतर उपचार के लिए बनाई गई  त्रिस्तरीय  रणनीति के बारे में बताया गया । बताया गया कि जिले में कोरना संक्रमण की दूसरी लहर से निपटने के लिए प्रशासन द्वारा  जिला मुख्यालय सहित सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत किया गया है। इन केंद्रों पर सर्व सुविधायुक्त डी सी एच सी एवं कोविड केयर सेंटर बनाए गए हैं जहां मरीज तेजी से स्वस्थ होकर अपने घर लौट रहे हैं।

समर्पित कोरोना स्वास्थ्य केंद्र एवं कोविड केयर सेंटर पर ऑक्सीजन बेड्सआवश्यक दवाओं व अन्य संसाधनों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की गई हैं। उपलब्ध संसाधनों का मैदानी स्तर तक समुचित उपयोग एवं प्रबंधन किया गया हैं। सभी अस्पतालों एवं कोविड केयर सेंटर्स पर चिकित्सकों सहित समस्त एसडीएम तहसीलदार एवं अन्य अधिकारियों द्वारा वीडियो कॉलिंग के जरिए मरीजों की मॉनिटरिंग की जा रही एवं उनकी समस्याओं का निराकरण भी किया जा रहा है। जिले में किल कोरोना अभियान का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित किया गया है। इन समेकित प्रयासों का ही परिणाम है कि जिले में पॉजिटिविटी रेट घटकर 8% के करीब और रिकवरी रेट बढकर 82.38 प्रतिशत हो गया है। कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने जिले में कोविड नियंत्रण के लिए की गई व्यवस्थाओं पर संतोष व्यक्त किया और जिला प्रशासन द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की ।

कृषि मंत्री श्री पटेल ने मरीजो का स्‍वास्‍थ्‍य जाना

कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने मालाखेडी स्थि‍त कोविड केयर सेंटर एवं पवारखेडा डेडीकेकेड कोविड हेल्‍थ केयर सेंटर का निरीक्षण कर व्‍यवस्‍थाओं का जायजा लिया। उन्‍होने सीसीसी में भर्ती कोविड मरीजो से चर्चा कर उनका स्‍वास्‍थ्‍य जाना और स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं के बारे में जानकारी ली।