सोमवार, बुधवार, गुरुवार एवं शनिवार को लगाए जाएगा कोविड वैक्सीन

 सोमवार, बुधवार, गुरुवार एवं शनिवार को लगाए जाएगा कोविड वैक्सीन


60 वर्ष से अधिक आयु के सभी आमजन को लगाया जाएगा टीका
कलेक्टर श्री सिंह ने कोरोना टीकाकरण अभियान के  सुचारू क्रियान्वयन के दिए निर्देश 

 होशंगाबाद ,  होशंगाबाद जिले में कोविड टीकाकरण का दूसरा चरण कोविन 2.0  की शुरुआत एक मार्च से हो गई है । इस चरण में 60 वर्ष से अधिक की समस्त आम जनता को एवं 45 से 59 वर्ष के बीमार व्यक्ति जो हॉर्ट, सिकल सेल, ब्लड प्रेशर या अन्य जटिल बीमारियों से ग्रसित हैं, को चिकित्सक का प्रमाण पत्र के आधार पर कोविड का टीका लगाया जावेगा। वैक्सीन सोमवार, बुधवार, गुरुवार एवं शनिवार को जिला चिकित्सालय होशंगाबाद सहित  सिविल अस्पताल इटारसी एवं पिपरिया तथा सामुदायिक  स्वास्थ्य केंद्र सुहागपुर, बाबई ,बनखेड़ी,  पिपरिया, सिवनी मालवा ,  केसला,  डोलरिया में लगाया जाएगा ।
       मंगलवार 2 मार्च को कलेक्ट्रेट कार्यालय के सभाकक्ष में कलेक्टर श्री धनंजय सिंह ने डिस्ट्रिक्ट टास्क फोर्स समिति की बैठक में कोविड वैक्सीनेशन अभियान की विस्तृत समीक्षा की एवं अभियान के सुचारू क्रियान्वयन के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य और  महिला एवं बाल विकास विभाग के मैदानी अमले द्वारा कोविड वैक्सीनेशन अभियान का व्यापक प्रचार प्रसार किया जाए। ताकि कोविड टीकाकरण अभियान से ज्यादा से ज्यादा लोग लाभान्वित हो सके। 
  टीकाकरण हेतु ऑनलाइन पंजीयन की सुविधा उपलब्ध 
        बैठक में बताया गया कि 60 वर्ष से अधिक की समस्त आम जनता को एवं 45 से 59 वर्ष के बीमार व्यक्ति को  कोविड वैक्सिनेशन के लिए सरकार द्वारा पंजीयन की ऑनलाइन सुविधा उपलब्ध कराई  गई है, जो कि कोविन एवं आरोग्य सेतु एप से अपने समय के अनुसार स्लाट बुक कर टीका जिला चिकित्सालय एवं सिविल अस्पताल इटारसी एवं सभी स्वास्थ्य केंद्रों  पर लगवा सकते हैं।                                
जिला टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर नलिनी गौड़ ने बताया कि हेल्थ वर्कर एवं फ्रंटलाइन वर्कर का द्वितीय डोज भी साथ-साथ लगाया जाएगा। जो हेल्थ वर्कर एवं फ्रंटलाइन वर्कर टीकाकरण से छूट गए हैं एवं जिनका पंजीयन नहीं हो पाया है, वह भी टीकाकरण स्थल पर अपने पहचान पत्र ले जाकर अपना टीकाकरण करवा सकते हैं। कोविड-19 का टीकाकरण जिला अस्पताल, समस्त सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में लगाया जाएगा।
बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री मनोज सरियाम ,मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ दिनेश कौशल , डिप्टी कलेक्टर श्रीमती मोहिनी शर्मा सहित अन्य अधिकारी कर्मचारी उपस्थिति रहे! 


वाहनो की चेकिंग का कार्य लगातार जारी 
12 वाहनों पर किया गया 17 हजार रूपए का जुर्माना
होशंगाबाद/02, मार्च, 2021 / क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी मनोज तेनगुरिया के निर्देशन में जिले में यात्री वाहनो की सघन चेकिंग का कार्य लगातार जारी है। वाहन चालको को ओव्हर लोडिंग न करने एवं वाहन को निर्धारित गति से चलाने की समझाईश दी जा रही है। साथ ही वाहनो में अग्निशामक यंत्र, आपातकालीन द्वार, फर्स्ट एड बॉक्स आदि की भी जाँच कर नियमानुसार जुर्माने की कार्यवाही की जा रही है। इसी क्रम में मंगलवार 2 मार्च को आरटीओ श्री तेनगुरिया द्वारा मोटरयान अधिनियम के प्रावधानो का उल्लंघन करने वाले 12 वाहनो पर 17 हजार रूपए का जुर्माना किया गया । जिला परिवहन अधिकरी श्री तेनगुरिया ने बताया है कि जिले में वाहन चेकिंग की कार्यवाही निरन्तर जारी रहेगी। 

रबी उपार्जन के लिए किसानों का पंजीयन अब 5 मार्च तक
होशंगाबाद,  किसानों की उपज को समर्थन मूल्य पर क्रय करने की दृष्टि से रबी उपज गेहँ, चना, मसूर एव सरसों की खरीदी के लिए किसान अपना पंजीयन अब 5 मार्च तक करा सकेंगे। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री बिसाहू लाल सिंह, किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल एवं सहकारिता लोक सेवा प्रबंधन मंत्री डॉ. अरविन्द भदौरीया की संयुक्त बैठक में यह निर्णय लिया गया। रबी उपज के उपार्जन व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में बताया गया कि 3,4 एवं 5 मार्च को किसानों का पंजीयन सिर्फ सहकारी समितियों के केन्द्रों पर ही किया जाएगा।
   प्रमुख सचिव, खाद्य श्री फैज अहमद किदवई ने उपार्जन की तैयारियों की जानकारी देते हुए बताया कि बारदानें एवं गोदाम की व्यवस्था के लिये वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन द्वारा व्यवस्था की जा रही है। बारदानों के संबंध में भारत सरकार की गाइड लाइन के अनुसार सिर्फ जूट के बारदाने ही खरीदे जा सकते है। जूट के बारदाने प्रदाय करने वाला प्रमुख एवं बड़ा राज्य पश्चिम बंगाल है, जहाँ से खरीदी की कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने बताया कि गोदाम मालिक स्वयं भी खरीदी कर सकेंगे।
   सहकारिता एवं लोक सेवा प्रबंधन मंत्री डॉ. अरविन्द भदौरिया ने कहा कि उपार्जन व्यवस्था इस प्रकार रखें कि प्रतिदिन उपार्जन के लिए किसान उपलब्ध रहें, जिससे खरीदी केन्द्रों पर एक साथ किसानों की भीड़ नहीं हो और खरीदी भी सहजता से की जा सके। उन्होंने कहा कि सुनिश्चित करें कि 72 घंटे के भीतर स्कंद का परिवहन हो जाये। भुगतान में किसी प्रकार की गड़बडी को रोकने के लिए उपज प्राप्त होने के पश्चात ही भुगतान की कार्रवाई की जायेगी।
   बैठक में प्रमुख सचिव सहकारिता श्री उमाकांत उमराव एवं संचालक कृषि सुश्री प्रीति मैथिल उपस्थित थी।