जालोर.. क्रिकेटर धोनी के कार्यक्रम में हंगामा, बेकाबू प्रशसंकों पर पुलिस ने भांजी लाठियां..!!

 जालोर.. क्रिकेटर धोनी के कार्यक्रम में हंगामा, बेकाबू प्रशसंकों पर पुलिस ने भांजी लाठियां..!!



वागाराम बोस की रिपोर्ट


3, मार्च, 2021

जालोर. जिले के सांचौर उपखंड में आज एक स्कूल का लोकार्पण करने आये भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के कार्यक्रम में उनके प्रशसंक बेकाबू हो गये. भीड़ के अनियंत्रित होने जाने से वहां हंगामे के हालात हो गये. इस पर पुलिस ने धोनी के प्रशसंकों पर लाठियां भांजकर उन्हें वहां से खदेड़ा. इस आपाधापी के बीच धोनी करीब आधे घंटे तक कार्यक्रम में रुकने के बाद सड़क मार्ग से अहमदाबाद के लिए रवाना हो गये. उसके बाद भीड़ वहां छंट गई.


धोनी आज दोपहर में एक दिवसीय दौरे पर जालोर आये थे. जालोर में पहुंचने पर उनका राजस्थान-गुजरात बॉर्डर पर नैनवा में जोरदार स्वागत किया गया. धोनी उसके बाद सड़क मार्ग से जाखल गांव पहुंचे. धोनी के जाखल आने की सूचना पर वहां पहले ही उनके हजारों प्रशसंक एकत्र हो गये. धोनी ने जाखल पहुंचने के बाद वहां भामाशाह की ओर से बनाये गये विद्यालय का लोकार्पण किया.


प्रशसंक धोनी से हाथ मिलाने और ऑटोग्राफ लेने के लिये उतावले हो रहे थे


इस दौरान धोनी की एक झलक पाने और उनसे मिलने के लिये प्रशसंक धक्का-मुक्की करने लगे. प्रशसंक महेन्द्र सिंह धोनी से हाथ मिलाने और ऑटोग्राफ लेने के लिये उतावले हो रहे थे. इस आपाधापी में वहां हंगामे के हालात हो गये. देखते ही देखते वहां उमड़ी भारी भीड़ अनियंत्रित हो गई. पुलिस ने भीड़ से संयम रखने की कई बार अपील की, लेकिन वह नहीं मानी. इस पर पुलिस ने उनको काबू करने के लिये लाठियां भांजनी शुरू की. इससे वहां भगदड़ मच गई. पुलिस ने हल्का लाठीचार्ज कर प्रशसंकों को वहां से खदेड़ दिया. धोनी कार्यक्रम में करीब आधे घंटे रूके.


दो करोड़ की लागत से भामाशाह ने करवाया है स्कूल का निर्माण

जाखल निवासी भामाशाह ने गांव में संघवी तीजा बेन मिश्रीमल कटारिया राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के नए भवन का निर्माण करवाया है. कई सुविधाओं से युक्त इस भवन का निर्माण करीब दो करोड़ की लागत से कराया गया है. इसका भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी, वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम विश्नोई और सांसद देवजी पटेल ने उद्घाटन किया. इस मौके पर बीजेपी और कांग्रेस के नेताओं सहित कई समाजसेवी तथा जिलेभर के गणमान्य नागरिक मौजूद थे.