विकास के नये आयाम स्थापित करेगी राजस्थान रिफाइनरी - शर्मा

 विकास के नये आयाम स्थापित करेगी राजस्थान रिफाइनरी - शर्मा




-मुख्यमंत्री के निजी सलाहकार गोविंद शर्मा पंहुचे पचपदरा 

-रिफाइनरी का निरीक्षण कर कार्य प्रगति की समीक्षा 


वागाराम बोस की रिपोर्ट


बालोतरा/बाड़मेर। रिफाइनरी राजस्थान का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट है। इसके मूर्त रूप लेने के बाद क्षेत्र ही नहीं प्रदेश में विकास के नये आयाम स्थापित होंगे। तस्वीर और तकदीर बदलने के लिए यह प्रोजेक्ट मील का पत्थर साबित होगा। प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से हजारों लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। पचपदरा में एचआरआरएल रिफाइनरी के निरीक्षण व कार्य प्रगति की समीक्षा के लिए बुधवार दोपहर यहां पंहुचे मुख्यमंत्री के निजी सलाहकार गोविंद शर्मा ने यह बात कही। इससे पहले शर्मा के यहां पंहुचने पर जिला कलक्टर विश्राम मीणा, उपखण्ड अधिकारी बालोतरा डॉ. नरेश सोनी, पचपदरा तहसीलदार सुरेंद्र कुमार कच्छवाह व एचआरआरएल के अधिकारियों ने अगुवानी कर स्वागत किया। इस मौके पर शर्मा ने कहा कि रिफाइनरी को लेकर मुख्यमंत्री काफी गंभीर है। मुख्यमंत्री खुद इस प्रोजेक्ट की कार्य प्रगति के बारे में मानिटरिंग कर रहे हैं। रिफाइनरी सरकार का अहम सपना है, जिसे समयबद्ध अमलीजामा पहनाने के लिए परस्पर तालमेल के साथ सभी अधिकारी गंभीर रहें। मुख्यमंत्री के साफ निर्देश है कि इसमें किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त योग्य नहीं होगी। रिफाइनरी को लेकर अब तक हुए कार्यो का बारीकी से निरीक्षण व समीक्षा कर शर्मा ने प्रस्तावित कार्यों की जानकारी ली। जिला कलक्टर विश्राम मीणा, उपखण्ड अधिकारी बालोतरा डॉ. नरेश सोनी, पचपदरा तहसीलदार सुरेंद्र कुमार कच्छवाह सहित एचआरआरएल के अधिकारियों से बातचीत कर कार्य प्रगति के बारे में चर्चा की और आवश्यक दिशा निर्देश दिए।