प्रभारी सीएमओ की मनमानी बिना निविदा के कर ली लाखों की खरीदी
प्रभारी सीएमओ की मनमानी बिना निविदा के कर ली लाखों की खरीदी

 नगर परिषद ने नागपुर भोपाल से की खरीदी, भाजपा नेता नाराज 

नियुक्तियों एवं खरीदी में अनियमितताओं पर जिला उपाध्यक्ष ने लिखा पत्र

घोड़ाडोंगरी । नवगठित नगर परिषद का कामकाज शुरू होते ही नियुक्तियों और सामग्री की खरीदारी में अनियमितताओं को लेकर भाजपा नेताओं ने सीएमओ के प्रति नाराजगी जताई है। भाजपा जिला उपाध्यक्ष विशाल बत्रा ने सीएमओ घोड़ाडोंगरी जीआर देशमुख को पत्र लिखकर नगर परिषद में विभिन्न पदों पर रोजगार नियुक्तियों और खरीदी में स्थानीय आदिवासियों सहित अन्य समुदाय के गरीब बेरोजगार युवाओं और स्थानीय व्यापारियों को प्राथमिकता देने की बात लिखी है ।पत्र की प्रतिलिपि मुख्यमंत्री, नगरीय प्रशासन मंत्री, सांसद, आमला विधायक, भाजपा के पूर्व सांसद, भाजपा जिला अध्यक्ष सहित प्रमुख सचिव एवं आयुक्त नगरीय प्रशासन विभाग और प्रशासक को भी प्रेषित की गई है। इस मामले को लेकर भाजपा जिला उपाध्यक्ष विशाल बत्रा, भाजयुमो प्रदेश मंत्री दीपक उईके, पूर्व उपसरपंच नितेश भुजवरे, भाजपा नेता पंकज नागवंशी, टंटी सराठे आशीष यादव सहित अन्य लोगों ने सीएमओ एवं प्रशासक से मुलाकात कर जांच हेतु पत्र सौंपा है। श्री बत्रा ने पत्र में लिखा है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोड़ाडोंगरी के समग्र विकास के लिए जन भावनाओं का आदर करते हुए घोड़ाडोंगरी को नगर परिषद दर्जा देकर यहां के विकास के लिए हर संभव मदद करने का भरोसा दिलाया है। जन सुविधाओं और कार्यवाही को लेकर लोगों की नवगठित नगर परिषद से बड़ी अपेक्षाएं हैं। नवगठित नगर परिषद के हर क्रियाकलाप और व्यवस्था की आम जनता पूर्ववर्ती ग्राम पंचायत के क्रियाकलाप और व्यवस्थाओं से तुलना करती है । अतः नगर परिषद के अधिकारी कर्मचारियों से पारदर्शी सुविधाजनक और सुव्यवस्थित प्रशासकीय व्यवहार की अपेक्षा की जाती है । लेकिन पिछले लगभग डेढ़ माह के दौरान नगर परिषद की कार्यवाहियों को लेकर नागरिकों ने कई मामलों में असंतोष जताते हुए कई शिकायतें एवं आपत्तियां हमारे समक्ष रखी है जिनका निराकरण किया जाना आवश्यक है।

कम्प्यूटर ऑपरेटर और सफाईकर्मी की नियुक्ति में बाहरी लोगों की भरमार

नगर परिषद द्वारा पिछले दिनों घोड़ाडोंगरी की सफाई व्यवस्था हेतु 15 सफाई कर्मियों सहित एक कंप्यूटर ऑपरेटर की नियुक्ति की गई है । इसमें आधे से अधिक लोग घोड़ाडोंगरी से बाहर के है ।जिस पर स्थानीय बेरोजगार युवाओं द्वारा भाजपा नेताओं के समक्ष आपत्ति प्रकट की गई थी। भाजपा नेताओं ने भी इस मामले में सीएमओ द्वारा की गई कार्रवाई पर नाराजगी जाहिर की है और ऐसी नियुक्तियों में स्थानीय लोगों को प्राथमिकता देने की बात कही है। भाजपा नेता विशाल बत्रा ने कहा कि ग्राम पंचायत से नगर परिषद होने के बाद गरीब आदिवासी और अन्य गरीब वर्गों को मनरेगा के तहत काम मिलना बंद हो गया है। ऐसे लोगों को नगर परिषद के श्रमिक के रूप में उपयोग किया जाना चाहिए । घोड़ाडोंगरी में सैकड़ों की संख्या में शिक्षित बेरोजगार हैं आवश्यकता होने पर इन्हें रोजगार देना चाहिए।

एलईडी लाइट, स्टेशनरी,कचरा गाड़ी और कंप्यूटर सभी चीजें बाहरी सप्लायरों से खरीदी

घोड़ाडोंगरी में सीएमओ जीआर देशमुख के पदस्थ होने के बाद पिछले डेढ़ माह में लगभग 5 से 7 लाख की खरीदी में अनियमितताएं होने की शिकायत भाजपा नेताओं को मिली थी। जिस पर जिला उपाध्यक्ष विशाल बत्रा ने पत्र लिखकर सारे मामले की जांच की मांग की है। गौरतलब है कि पिछले डेढ़ माह में घोड़ाडोंगरी नगर परिषद में 98000 की एलईडी लाइट, 7-7 हजार की सात कचरा गाड़ियां, दो कंप्यूटर , 80000 की स्टेशनरी और 50,000 से अधिक मूल्य के केमिकल की खरीदी नागपुर भोपाल और सौसर के सप्लायरों से की है। भाजपा नेता विशाल बत्रा ने सीएमओ के समक्ष रोष जताते हुए कहा कि आपने कब इंक्वायरी निकाली जिसकी सूचना स्थानीय व्यापारियों को नहीं मिली लेकिन नागपुर और भोपाल तक सूचना पहुंच गई यह संदेह का विषय है और यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।