चौरी चौरा शताब्दी महोत्सव का जनपद में भव्य तरीके से हुआ आयोजन

 चौरी चौरा शताब्दी महोत्सव का जनपद में भव्य तरीके से हुआ आयोजन



शहीद स्मारक स्थलों पर देश के अमर बलिदानियों को दी गयी श्रद्धांजलि



युवा पीढ़ी में राष्ट्र प्रेम की भावना जागृत होगी तो देश तरक्की के पथ पर आगे बढ़ेगा-जिलाधिकारी

जनपद में आज चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव का भव्य तरीके से आयोजन किया गया। जनपद के 05 शहीद स्मारक स्थलों कहला, रूरे, कालाकांकर, जिला सैनिक कल्याण एवं पुर्नवास कार्यालय तथा मतुई नमकशायर में चौरी-चौरी शताब्दी महोत्सव के दौरान प्रातःकाल 8.30 बजे से स्कूल के छात्र-छात्राओं, एन0सी0सी0/एन0एस0एस0, स्वयं सेवी संस्थाओं द्वारा प्रभात फेरी में राष्ट्र भक्ति नारों के साथ शहीद स्मारक स्थल पर पहुॅचकर देश के अमर बलिदानियों को श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। जिलाधिकारी डा0 नितिन बंसल, पुलिस अधीक्षक शिवहरी मीणा, मुख्य विकास अधिकारी अश्विनी कुमार पाण्डेय, जिला सूचना अधिकारी विजय कुमार, कर्नल एस0के0 सिंह ने जिला सैनिक कल्याण एवं पुर्नवास कार्यालय में स्थापित शहीद स्मारक स्थल पर पहुॅचकर अमर शहीदों को पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। शहीद स्मारक स्थल कहला में विधायक रानीगंज धीरज ओझा, उपजिलाधिकारी रानीगंज राहुल यादव, डीसी मनरेगा अजय पाण्डेय ने, शहीद स्मारक स्थल रूरे में उपजिलाधिकारी पट्टी धीरेन्द्र प्रताप सिंह, तहसीलदार पट्टी ने, कालाकांकर में उपजिलाधिकारी कुण्डा जलराजन चौधरी, पूर्व सांसद राजकुमारी रत्ना सिंह, तहसीलदार कुण्डा राम जनम यादव ने तथा शहीद स्मारक स्थल मतुई नमकशायर में तहसीलदार रानीगंज श्रद्धा पाण्डेय, अधिशासी अधिकारी पृथ्वीगंज सुभाष सिंह ने श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर सभी शहीद स्मारक स्थलों पर सामूहिक रूप से वन्दे मातरम् का गायन किया गया एवं अमर शहीदों को याद किया गया।

चौरी-चौरी शताब्दी महोत्सव का जनपद स्तर पर तुलसीसदन (हादीहाल) में आयोजन किया गया, आयोजन में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों एवं शहीदों के परिजनों को जिलाधिकारी डा0 नितिन बंसल ने अंगवस्त्रम् एवं पुष्पगुच्छ देकर सम्मानित किया। तुलसीसदन में चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों एवं शहीदों के परिजनों चिरौंजी देवी पत्नी हरी विलास सिंह, जयराज कुंवर पत्नी राजपत सिंह, गुड़िया देवी पत्नी विजय कुमार शुक्ल, जयराजी पत्नी जमुना, जैतुना पत्नी आबिद अली, भुल्लुर पत्नी अयोध्या सिंह, जानकी देवी पत्नी राम अवध, लालती देवी पत्नी शिवशंकर, कलावती देवी पत्नी उदयपाल, राधा देवी पत्नी इन्दर सिंह को जिलाधिकारी ने पुष्प गुच्छ एवं अंगवस्त्रम् से सम्मानित किया गया। इसी प्रकार जनपद के अन्य शहीद स्मारक स्थलों पर भी स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों एवं शहीदों के परिजनों को अंगवस्त्रम् एवं पुष्पगुच्छ देकर सम्मानित किया गया। जनपद के शहीद स्मारक स्थल एवं शैक्षणिक संस्थानों पर मा0 प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी, महामहिम राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के सम्बोधन को वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से चौरी चौरा शताब्दी महोत्सव का सजीव प्रसारण देखा गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी लोगों को सम्बोधित करते हुये कहा कि चौरी-चौरा की घटना 04 फरवरी 1922 को घटित हुई थी, इस घटना ने देश भर में जन आन्दोलन को गति देने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की थी। स्वतंत्रता के आन्दोलन में प्रतापगढ़ के वीर सपूतों ने बढ़-चढ़कर अपनी भागीदारी निभायी थी। चौरी-चौरा शताब्दी समारोह में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम शहीद स्थलों पर निरन्तर एक वर्ष तक किये जायेगें। युवा पीढ़ी में यदि राष्ट्र प्रेम की भावना जागृत होगी तो देश तरक्की के पथ पर आगे बढ़ेगा। इस अवसर पर नगर पालिका अध्यक्षा प्रेमलता सिंह, पूर्व विधायक हरि प्रताप सिंह, मंत्री महेन्द्र सिंह के प्रतिनिधि दिनेश शर्मा ने भी अमर बलिदानियों के प्रति अपने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान के साथ किया गया। कार्यक्रम का संचालन मो0 अनीस ने किया। सभी शहीद स्मारक स्थलों पर सायंकाल भव्य तरीक से लाइटिंग एवं दीप प्रज्जवलन किया गया एवं पुलिस बैण्ड द्वारा राष्ट्रधुन बजायी गयी।


प्रतापगढ़ उत्तर प्रदेश से जिला रिपोर्टर बीके पांडे की रिपोर्ट