डिप्टी कलेक्टर ने पटवारी,आरआई के कार्यों के बारे में जाना
           हंडिया मंगलवार को तहसील कार्यालय,हंडिया में प्रशिक्षु डिप्टी कलेक्टर सुश्री राजनन्दनी शर्मा ने पटवारी बस्ता में कौन-कौन से कागजात व सर्वे सामान होते हैं एवं पटवारी व आरआई के कौन-कौन से कार्य होते हैं इन सबके बारे में हंडिया आरआई संतोष पथोरिया से विस्तृत रूप से जाना। ग्राम हंडिया के पटवारी बस्ता के बारे में पथोरिया ने बताया कि एक पटवारी बस्ता में खसरा,किस्तबन्दी(बी-1),मिशल बंदोवस्त,मिशल नक्शा,चालू नक्शा शीट,निस्तार पत्रक,अधिकार अभिलेख पंजी,जिंसवार,बी-2,अतिक्रमण पंजी,फसल कटाई पंजी,कोटवार पंजी, फ़सल कटाई,पंजी,सिवाय आय पंजी,पटेल पंजी इत्यादि कागजातों के बारे में विस्तार पूर्वक बताया।साथ सर्वे सामान कंघी,परकार,गुनिया,डायगोनल स्केल एवं जरीब के बारे में बताया एवं इनके उपयोग कैसे किया जाता है के बारे में भी बताया। साथ ही नजूल भूमि के अभिलेख मेंटेनेंस खसरा एवं डायवर्सन अभिलेख डायवर्सन बी-1 के बारे में बताते हुए भूमिस्वामी हक की भूमि व नजूल भूमि के डायवर्सन तथा शासकीय भूमि पर अतिक्रमण करने वाले की रिपोर्ट  कैसे तैयार करने की प्रकिया व सीमांकन कैसे किया जाता है एवं कांकड़/दो गांवों की सीमा एवं स्थायी सीमा चिन्ह के अलामातों व इन बंदोवस्त के समय के स्थायी सीमा चिन्हों चांदे,मुनारे,त्रेमेडी,कुआं,पेड़ इत्यादि के बारे में एवं सीमाकंन में इनकीं उपयोगिता के बारे में बताया। एवं किसी प्रकरण में तहसीलदार/अ.वि.अ. न्यायालय से पारित आदेशों के खसरा,बी-1एवं नक्शा में अमल के बारे में बताया।नक्शा बटांकन के बारे में समझाया कि खसरा में किसी खसरा नम्बर के जितने बटे नम्बर हैं,उतने ही बटे नंबर नक्शा में भी होना चाहिये। फसल गिरदावरी व फसल को खसरा में इंद्राज करने की विधि के साथ ही खसरा के कॉलम नम्बर एक से कैफियत के कॉलम नम्बर बारह तक उनमें दर्ज होने वाली चीजों के साथ खरीफ फसल रबी फसल,पड़ती भूमि,वन भूमि दुफसली, फसल का निरा झेत्रफल,चरनोई का दो प्रतिशत के रकबे को निकालने के बारे में बताते हुए शासकीय भूमि के बंटन की प्रक्रिया भी बताई।भूमिस्वामी,भू-दानधारक,शासकीय पट्टेदार व सेवाभूमि के बारे में समझाते हुए,खाते की भूमि,ग़ैरखाते की भूमि व आबादी भूमि के बारे में भी मदवार अलग-अलग समझाया।एवं भूमि पर लगने वाले भू-राजस्व,उपकर,शालाकर, वाणिज्यकर,डायवर्सन शुल्क,भू-भाटक, अतिक्रमण की भूमि पर लगने वाले अर्थदंड के बारे व इनकी वसूली प्रक्रिया के बारे में विस्तार पूर्वक समझाया। पटवारी/आरआई के अवकाश व इनकी मासिक उपस्थिति कौन देता है,इनका वेतन कहां से निकलता है इत्यादि के बारे में भी विस्तृत रूप से बताया। 
           हंडिया आरआई पथोरिया  ने पटवारी बस्ता के कागजातों,सर्वे सामान,सीमांकन,रकबा बरारी व रकबा नापने की इकाइयों एकड़,हेक्टेयर,डिसिमिल,आरे व इनको वर्गफुट में कन्वर्ट करने की विधि एवं पटवारी,आरआई के कार्यों के साथ बहुत सारी जानकारी बहुत ही उम्दा तरीके से समझाई जो बहुत ही उपयोगी हैं।