जागरूकता रथ से गांव - गांव पहुंचेगी पंचायतीराज योजनाओं की जानकारी
*जागरूकता रथ से गांव - गांव पहुंचेगी पंचायतीराज योजनाओं की जानकारी*

*जिला कलक्टर एवं जन प्रतिनिधियों ने जागरूकता रय को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।*

वागाराम बोस की रिपोर्ट

बाड़मेर, 28 फरवरी। ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग की योजनाओं का जागरूकता 
रथ के माध्यम से प्रचार-प्रसार
किया जाएगा। इसके लिए बाड़मेर जिला मुख्यालय पर रविवार को जिला कलक्टर विश्राम मीणा, बाड़मेर प्रधान पवन कँवर एवं बाड़मेर ग्रामीण प्रधान जेठी देवी ने जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
इस अवसर पर जिला कलक्टर विश्राम मीणा ने कहा कि राज्य सरकार के दो वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग की योजनाओं की उपब्धियों को आमजन तक पंहुचाने के उद्देश्य से बाड़मेर जिले में जागरूकता रथ निकाला जा रहा है। यह रथ प्रतिदिन 80 किमी की दूरी तय करने के साथ ग्रामीणों को ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज योजनाओं की जानकारी देगा। इस अवसर पर जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मोहनदान रतनू, सहायक सांख्यिकी अधिकारी नखताराम ईशराम, सहायक अभियंता रामलाल जैन,सहायक लेखाधिकारी सुरेश यादव समेत विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे। इधर, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रतनू ने बताया कि पूरे राज्य में ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग की योजनाओं का रथ संचालित किए जाने के निर्देश की अनुपालना में जिले में पंचायत समिति स्तर पर जागरूकता रथ की शुरुआत की गई है। जो प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर पर जाकर सरकार एवं विभाग की योजनाओं से ग्रामीणों को जागरूक करेगा। सीईओ रतनू ने बताया कि विकास अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि
जागरूकता रथ का प्रदर्शन ग्राम पंचायत में ऐसे स्थान पर किया जाए, जहां पर ज्यादा से ज्यादा लोगों को योजनाओं की जानकारी मिल सके। जागरूकता रथ का संचालन 15 मार्च तक होगा। इस जागरूकता रथ में महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत पूरा काम पूरा दाम विशेष अभियान, राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद, स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण, प्रधानमंत्री  आवास योजना ग्रामीण से संबंधित योजनाओं की जानकारी प्रदशित की गई है।