आपसी लेनदेन के विवाद के चलते हरियाणा जनचेतना पार्टी की नेत्री अमरजीत कौर सौढ़ी को गोली मारने के साथ खुद को भी मारी गोली

 


आपसी लेनदेन के विवाद के चलते हरियाणा जनचेतना पार्टी की नेत्री अमरजीत कौर सौढ़ी को  गोली मारने के साथ खुद को भी मारी गोली



अंबाला (जयबीर राणा थंबड़) आपसी लेनदेन के विवाद के चलते हरियाणा जनचेतना पार्टी की नेत्री अमरजीत कौर सौढ़ी की उसके पूर्व बिजनेस पार्टनर ईशम सिंह द्वारा गोली मारकर हत्या किये जाने व बाद में ईशम सिंह द्वारा खुद को भी गोली मारकर सुसाइड किये जाने के मामले की जांच मे पुलिस जुट गयी है।

आज बलदेव नगर पुलिस ने सिविल अस्पताल में मृृतको के शवो का पोस्टमार्टम करवाया, जिसके बाद शव परिजनो को सौंप दिये गये हैं। एसएचओ हमीर सिंह ने बताया कि आज शवो के पोस्टमार्टम करवाये गये हैं। इस सबंध में मृतका के पुत्र की शिकायत पर एक केस दर्र्ज कर लिया गया है। जल्द ही परिजनो के बयान दर्ज किये जाएंगे। पुलिस काल डिटेल की भी जांच करेगी, फिलहाल प्रारंभिक जांच में केवल यही सामने आया है कि इन दोनो के बीच में कोई लेन देन था, जिसकी वजह से यह वारदात हुई। बता दें कि ईशम सिंह करीब दस साल पहले अमरजीत कौर के साथ शराब के बिजनेस में पार्टनर रहा था।

ईशम सिंह को उसके एक कारिंदे की हत्या के जुर्म में सजा हुई थी ओर वह जेल में था। वह कोरोना काल में ही पैराल पर बाहर आया था। वह कल अंबाला में अमरजीत कौर के पास आया था। अमरजीत कौर अपनी एक जानकार के घर हाउसिंग बोर्ड बलदेव नगर में गयी थी, जहां ईशम सिंह की उससे मुलाकात हुई थी। जब यह दोनो कमरे मे थे तो ईशम सिह ने अमरजीत कौर को तीन गोलियां मारी। एक गोली दीवार से टकराकर ईशम सिंह की टांग मे भी लगी थी। ईशम सिंह ने इसके बाद खुद को भी गोली मार ली। घायल हालत में दोनो को सिविल अस्पताल लाया गया था, जहां डाक्टरो ने दोनो को मृत घोषित कर दिया था। हर कोई इस वारदात के बाद सकते में है। फिलहाल इस केस में गोली मारने वाले ईशम सिंह की भी मौत हो चुकी है। लेकिन असल में वारदात के पीछे क्या कारण रहे।

बीती रात इस घटना के बाद क्षेत्र में दहशत का माहौल छा गया था। हजपा के अनेक कार्यकर्ता अमरजीत कौर सोढ़ी की गोली लगने की सूचना मिलते ही शहर के सिविल अस्पताल अस्पताल पहुंचने शुरू हो गए थे। पुलिस अधिकारियों ने भी इस मामले में जांच जांच शुरू कर दी है। हालांकि, पुलिस की पहली प्राथमिकता दोनों शवों का पोस्टमार्टम करवा उनके परिजनों को सौंपने की थी। आज जिस समय अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाया जा रहा था, तब सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त थे।

ईशम की मौत की सूचना मिलते ही करनाल से उसके परिजन भी अंबाला पहुंचे। पुलिस की देखरेख में दोपहर बाद ईशम के शव का पोस्टमार्टम करवाया गया। करनाल से आए मृतक के परिजनों ने ईशम को खोने का गहरा शोक था।  ईशम सिंह के परिजनो ने आज पुलिस के समक्ष एक एफिडैविट सौंपा है, जिसमें उन्होने ईशम सिंह के साइन होने का दावा किया है। एफिडेविट में ईशम सिंह व अमरजीत कौर के बीच कथित रुपयो के लेन देन, प्लाट के लेन देन व सोने के जेवरो आदि का जिक्र है। फिलहाल पुलिस इस एफिडेविट की सत्यता की जांच कर रही हैै और पता लगाने की कोशिश कर रही है कि क्या ईशम सिंह के परिजनो के आरोप सही हैं। इस एफिडेविट में अमरजीत कौर व उसके परिजनो के नामो का भी जिक्र है।