कलेक्टर की अध्यक्षता में समय-सीमा की बैठक सम्पन्न, पर्यटन स्थलों को व्यवस्थित, साफ-सुथरा तथा नैसर्गिकता बनाये रखने के लिए उठाएं आवश्यक कदम-कलेक्टर

 कलेक्टर की अध्यक्षता में समय-सीमा की बैठक सम्पन्न, पर्यटन स्थलों को व्यवस्थित, साफ-सुथरा तथा नैसर्गिकता बनाये रखने के लिए उठाएं आवश्यक कदम-कलेक्टर



नवनीत पांडे, जिला ब्यूरो  



बलरामपुर :- कलेक्टर श्याम धावड़े की अध्यक्षता में संयुक्त जिला कार्यालय भवन के सभाकक्ष में समय-सीमा की बैठक आयोजित की गई। समय-सीमा में लंबित प्रकरणों के बारे में चर्चा करते हुए विभागीय अधिकारी से जानकारी लेकर इसका शीघ्र निराकरण करने के निर्देश दिये। उन्होंने समस्त अनुविभागीय अधिकारी राजस्व से बारदानों की उपलब्धता के बारे में जाना तथा उचित मूल्य दुकानों से बारदानों का उठाव करने को कहा।

बैठक में कलेक्टर ने मध्यान्ह भोजन, नामांतरण-बांटवारा, मनरेगा, प्रधानमंत्री आवास के क्रियान्वयन के संबंध में विभागीय अधिकारियों से विस्तृत जानकारी ली। उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से कोविड-19 टीकाकरण के संबंध में की जा रही तैयारियों पर चर्चा की तथा समस्त विभागों को टीकाकरण के कार्य में वांछित सहयोग उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने जिले के पर्यटन केन्द्रों की साफ-सफाई तथा व्यवस्थित करने के दृष्टिकोण से कार्ययोजना तैयार कर क्रियान्वित करने को कहा। कलेक्टर ने विभिन्न विकासखण्डों से नवीन राशन कार्ड के लिए प्राप्त आवेदनों का निराकरण कर समय पर जारी करने के लिए जिला खाद्य अधिकारी की सराहना की।

कलेक्टर श्याम धावड़े ने जिला शिक्षा अधिकारी से मध्यान्ह भोजन के अंतर्गत वर्तमान में दिये जा रहा सूखा राशन छात्रों को नियमित रूप से मिल रहा है या नहीं इसकी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि छात्रों को निर्धारित मात्रा में तथा गुणवत्ता युक्त खाद्य पदार्थ मिले यह सुनिश्चित किया जाये, साथ ही मध्यान्ह भोजन के राशन वितरण की सूचना जनप्रतिनिधियों को भी दी जाये। उन्होंने सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व से कहा कि स्वास्थ्य अधोसंरचनाओं के विकास तथा तथा उपकरणों की खरीदी के लिए जीवन दीप समिति के माध्यम से आबंटित राशि का सदुपयोग हो यह सुनिश्चित करें। साथ ही समय-समय पर स्वास्थ्य केन्द्रों का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा ले ताकि लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मिले। स्वास्थ्य सेवाओं के क्रियान्वयन किसी भी प्रकार का लापरवाही न हो अन्यथा जिम्मेदारी तय कर कड़ी कार्यवाही की जायेगी। कलेक्टर धावड़े ने मनरेगा की समीक्षा करते हुए सृजित मानव दिवस की जानकारी ली तथा काम के आभाव में पलायन तो नहीं हो रहा है इस बारे में पूछा। उन्होंने स्वास्थ्य अधिकारियों से कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए किये जा रहे चरणबद्ध तैयारियों की जानकारी ली। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बसंत कुमार सिंह ने बताया कि कोविड वैक्सीनेशन के लिए माॅक ड्रील किया गया है तथा जिले में तीन स्थानों पर वैक्सीनेशन सेन्टर बनाया जायेगा। उन्होंने विभिन्न विभागीय अधिकारियों से टीकाकरण में आपेक्षित सहयोग करने को कहा ताकि व्यवस्थित रूप से लोगों को टीका लगाया जा सके। तत्पश्चात उन्होंने 22 जनवरी से 26 फरवरी तक चलने वाले शिशु संरक्षण माह के संबंध में भी जानकारी अधिकारियों से साझा करते हुए कहा कि इस दौरान बच्चों को महिला एवं बाल विकास विभाग के सहयोग से विटामिन ए की दवाई दी जायेगी। कलेक्टर श्याम धावड़े ने बैठक में राजस्व अधिकारियों से जिले के महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों को व्यवस्थित, साफ-सुथरा तथा उसकी नैसर्गिकता बनाये रखने के लिए आवश्यक कदम उठाने को कहा। पर्यटन स्थलों में आगंतुकों द्वारा भ्रमण के दौरान पाॅलिथीन तथा अन्य सामग्रियों के उपयोग पर्यावरण के दूषित होने का खतरा बना रहता है। ग्राम पंचायतों के माध्यम से पर्यटन स्थलों के रख-रखाव तथा साफ-सफाई व्यवस्था की निगरानी की जाये। उन्होंने उद्योग विभाग द्वारा औद्योगिक संगोष्ठी के सफल आयोजन की सराहना करते हुए कहा कि जो भी उद्यमी जिले में उद्योग स्थापना के इच्छुक हैं उन्हें हर संभव मदद प्रदान किया जाये।

इस अवसर पर अपर कलेक्टर विजय कुमार कुजूर, डिप्टी कलेक्टर प्रवेश पैंकरा, बालेश्वर राम, सर्व अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सहित कार्यालय प्रमुख उपस्थित थे।