फर्जी निजी हॉस्पिटल संचालको व झोलाछाप डॉक्टरों की अब खैर नहीं
*फर्जी निजी हॉस्पिटल संचालको व झोलाछाप डॉक्टरों की अब खैर नहीं*

*राष्ट्रीय भ्रष्टाचार निरोधक एवं मानवाधिकार संगठन ने फर्जी प्राइवेट हॉस्पिटलों व झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी चौहटन को सौंपा ज्ञापन*

*@बाड़मेर/चौहटन* राष्ट्रीय भ्रष्टाचार निरोधक एवं मानवाधिकार संगठन के संस्थापक सदस्य भगवान सिंह लाबराऊ ने चौहटन धनाऊ सेड़वा व इटादा में फर्जी व झोलाछाप चिकित्सकों को चिन्हित कर आज ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी श्रीमान रामजीवन बिश्नोई को ज्ञापन सौंपकर कहा कि आपके क्षेत्र में संचालित निजी अस्पतालों में मेडिकल बायो वेस्ट केमिकल की निकासी हेतु पर्याप्त संसाधन नहीं है और जहां अस्पताल संचालन हो रहा है वहां पर दुर्घटना व आगजनी हो जाने पर फायर सिस्टम की सुविधा नहीं है एक हॉस्पिटल को छोड़कर बाकी किसी भी निजी अस्पताल संचालकों के पास क्लिनिकल एस्टाब्लिशमेंट एक्ट 2010 के तहत मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय बाड़मेर में पंजीयन नहीं करवा रखा है कहीं बंगाली चिकित्सक भी बिना योग्यता के वैश्विक महामारी कोरोना में मरीजों का इलाज कर रहे हैं ऐसे जालसाजों की सूची सौंप कर फर्जी व धोखेबाजो के खिलाफ विधि सम्मत कार्यवाही करने की अपील।

*इनका कहना*
@हम ऐसे बिना पंजीकृत अस्पतालों व झोलाछाप चिकित्सको के खिलाफ टीम गठित कर सात दिन के अंदर कार्यवाही करेंगे।

*रामजीवन विश्नोई*
ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी चौहटन