भाजपा कार्यकर्ताओं ने युवाओं के आदर्श स्वामी विवेकानंद जी जयंती पर किए श्रद्धासुमन अर्पित

 भाजपा कार्यकर्ताओं ने युवाओं के आदर्श स्वामी विवेकानंद जी जयंती पर किए श्रद्धासुमन अर्पित



होशंगाबाद। युवाओं के पथ प्रदर्शक, महान विचारक व दार्शनिक, भारत की सांस्कृतिक अवधारणा का पताका सारे विश्व में फहराने वाले स्वामी विवेकानंद जी की 158वी जयंती भारतीय जनता पार्टी संभागीय कार्यालय  होशंगाबाद पर कार्यकर्ताओं ने फूलमाला एवं पुष्प अर्पित कर मनाई। इस अवसर पर संभागीय कार्यालय प्रभारी शम्भू सोनकिया ने संबोधित करते हुए कहा कि विवेकानन्दजी  बड़े स्वप्नदृष्टा थे। उन्होंने एक ऐसे समाज की कल्पना की थी जिसमें धर्म या जाति के आधार पर मनुष्य-मनुष्य में कोई भेद न रहे। उन्होंने वेदान्त के सिद्धान्तों को इसी रूप में रखा। अध्यात्मवाद बनाम भौतिकवाद के विवाद में पड़े बिना भी यह कहा जा सकता है कि समता के सिद्धान्त का जो आधार विवेकानन्द जी ने दिया उससे सबल बौद्धिक आधार शायद ही ढूँढा जा सके। आज भी विवेकानन्द जी युवाओं के प्रेरणास्त्रोंत है।

प्रदेश कार्यसमिति सदस्य पीयूष शर्मा ने कहा कि स्वामी विवेकानंद जी ने अमेरिका स्थित शिकागो में सन् 1893 में आयोजित विश्व धर्म महासभा में भारत की ओर से सनातन धर्म का प्रतिनिधित्व किया था। भारत का आध्यात्मिकता से परिपूर्ण वेदान्त दर्शन अमेरिका और यूरोप के हर एक देश में स्वामी विवेकानन्द की वक्तृता के कारण ही पहुँचा।आज के युवकों के लिये इस ओजस्वी संन्यासी का जीवन एक आदर्श है। इस अवसर पर सागर शिवहरे, विकास नारोलिया, पूनम मेषकर, प्रशांत पालीवाल, लोकेश तिवारी, केशव उर्मिल, प्रशांत दीक्षित, रोहित गौर, चंदन साहा, मनोज यादव, अजय रतनानी, अर्पित मालवीय, चरणजीत सिंह, योगेन्द्र सोलंकी, संतोष मीना, मनीष परदेशी, राहुल पटवा, सुंदरम अग्रवाल, ओम राय, अखिलेश निगम, जतिन यादव, छोटू तिवारी, लोकेश माधव उपस्थित थे।