भगवान भरौसे नहर की व्यवस्था

 भगवान भरौसे नहर की व्यवस्था 


कार्यपालन यंत्री तथा सब इंजीनियर छुट्टी पर

टिमरनी कायॅपालन यंत्री को दिया हरदा का प्रभार

रेवापुर तथा सोनतलाई सब डिविजन की जिम्मेदारी वाय एस यादव के पास

मसनगांव-  जल संसाधन विभाग द्वारा इस वर्ष नहरो की व्यवस्था भगवान भरोसे चलाई जा रही है सीजन के दौरान हरदा डिवीजन के कार्यपालन यंत्री आरके दीक्षित छुट्टी पर है उनकी जगह टिमरनी कार्यपालन यंत्री एफ के फिमटे को प्रभार दिया गया है जहां कार्यपालन यंत्री की कमी बनी हुई है वही सोनतलाई तथा रेवा पुर सब डिवीजन में एसडीओ की जिम्मेदारी रेवा पुर सबडिवीजन के सभी इंजीनियर वाय एस यादव निभा रहे हैं अधिकारियों की कमी का खामियाजा क्षेत्र के किसानों को भुगतना पड़ रहा है यहां पर नहरों मे पानी की  देखरेख नही होने से टेल क्षेत्र के किसानों को 25 दिन बाद भी फसलो मे देने के लिए पहला पानी नहीं मिल रहा है जिसके चलते वह रात भर नहर के चक्कर लगाने को मजबूर हो रहे हैं किसानों का कहना है कि इस वर्ष जिस प्रकार विभाग द्वारा व्यवस्था बनाई जा रही है उससे रवि सीजन की मुख्य फसल गेहूं एवं चने की पैदावार प्रभावित हो सकती है खरीफ की मुख्य फसल सोयाबीन के खराब होने के बाद से ही किसानों का भविष्य रवि की फसलों पर टिका हुआ है जहां नहर विभाग द्वारा सहयोग नहीं किए जाने से व्यवस्था गड़बड़ा रही है। सोनतलाई तथा रेवापुर सब डिविजन में विगत 10 दिनों से टेल क्षेत्र की नहरें सूखी पड़ी हुई है जिसमें कभी कभार रात में थोडा बहुत पानी आता है जो कुछ देर चलकर बंद हो जाता है पर्याप्त मात्रा में पानी नही मिलने से किसानो को खेतो मे पानी देने के लिए दिन रात मस्कत करनी पड रही है इसके वावजुद नहर सुखी होने हताश हो रहे है विभाग द्वारा दो दिन के भीतर व्यवस्था में सुधार नहीं किया जाता है तो क्षेत्र के किसान सड़कों पर उतरकर आंदोलन कर सकते हैं ग्राम के कृषक गणेश मुकाती बंसी लाल फुल रे पवन भायरे राजकुमार पाटिल सुधीर पटेल आदि ने बताया कि जल संसाधन विभाग द्वारा इस बार किसानों की अनदेखी की जा रही है पलेवे के दौरान भी मुश्किल से खेतों में पानी पहुंचा वहीं खेतों में खड़ी फसलों में पहला पानी देने के लिए भी रात भर परेशान होना पड़ रहा है इसके बावजूद अधिकारी पानी की व्यवस्था बनाने में नाकाम हो रहे हैं यदि शीघ्र व्यवस्था में सुधार नहीं हुआ तो सडक पर उतर कर आंदोलन किया जाएगा। किसानों का यह भी कहना है कि जहां सीजन के दौरान अधिकारी छुट्टी लेकर अपने घर जा रहे हैं पूरी व्यवस्था भगवान भरोसे छोड़ रखी है जिसका खामियाजा किसानों को भुगतना पड़ रहा है वह शादी व्याह छोडकर नहरो मे पानी तलाश कर रहा है।

एल वी सी मे शुरू होगी 36घंटो की ओसरा वंदी

नहरो मे पानी की कमी को देखते हुए जल संसाधन विभाग द्वारा लेफ्ट केनाल ब्रांच में सभी संस्थाओं कि 36 घंटों की ओसरा बंदी लागू की जाएगी प्रभारी एसडीओ वायस यादव ने बताया कि एलवीसी की सभी संस्थाओ को  36,36 घंटों के लिए बंद कर पानी नीचे पहुंचाने की व्यवस्था बनाई जाएगी सोमवार से औसरा बंदी लागू होने के साथ ही पानी की व्यवस्था में सुधार होगा।

मसनगांव से अनिल दीपावरे की   रिपोर्ट