निर्माण कार्यों को गुडवत्ता से करे । जिलाधिकारी

 निर्माण कार्यों को गुडवत्ता से करे । जिलाधिकारी


रिपोर्ट केशर सिंह नेगी


जिला योजना के अन्तर्गत प्रस्तावित निमार्ण कार्यो को गुणवत्ता के साथ समय से पूरा करते हुए अवमुक्त धनराशि को शतप्रतिशत व्यय करना सुनिश्चित करें। यह निर्देश जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने सोमवार को क्लेक्ट्रेट सभागार में जिला योजना के तहत प्रस्तावित निर्माण कार्यो की वित्तीय एवं भौतिक प्रगति की समीक्षा करते हुए सभी कार्यदायी एवं निर्माणदायी विभागों के अधिकारियों को दिए।


जिलाधिकारी ने लोनिवि, आरडब्लूडी, लघु सिंचाई, सिचाई सहित सभी कार्यदायी विभागों को जिला योजना के अन्तर्गत संचालित विकास कार्यो के निर्माण में तेजी लाने के निर्देश दिए। कहा कि जो योजनाए पूर्ण हो चुकी है उनकी शीघ्र यूसी, एमबी तथा फोटो सहित पूरी आख्या उपलब्ध करें। लोक निर्माण विभाग के कुछ कार्यो में अभी तक टेंडर प्रक्रिया पूरी न करने पर जिलाधिकारी ने फटकार लगाते हुए स्पष्टीकरण तलब किया है। जिलाधिकारी ने कहा कि समय से धनराशि अवमुक्त करने के बावजूद भी अभी तक टेंडर न किया जाना घोर लापरवाही है। उन्होंने लोनिवि को शीघ्र टेंडर प्रक्रिया पूरी करते हुए काम शुरू कराने के सख्त निर्देश दिए। ग्रामीण निर्माण विभाग के पास शिक्षा, स्वास्थ्य, पर्यटन आदि कार्यदायी विभागों के निर्माण कार्यो की अधिकता को देखते हुए जिलाधिकारी ने कहा यदि कोई कार्य समय से पूरा करने में कोई समस्या हो तो बताए। ताकि कार्यो को अन्य निर्माणदायी संस्था को आवंटित कर समय से पूरा कराया जा सके।



सीएम घोषणाओं के तहत लोनिवि के खंड स्तर पर लंबित सड़क एवं अन्य निर्माण कार्यो की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि कोई भी प्रकरण खंड स्तर पर लंबित न रहे। कहा कि यदि किसी निर्माण कार्य में कोई विवाद या समस्या आ रही है तो उसे क्षेत्रवासियों की सहमति से सुलझाने का प्रयास करें। इस दौरान जल संस्थान को अभी तक किए गए कार्यो की पूरी रिपोर्ट उपलब्ध कराने, पर्यटन विभाग को अच्छे टूरिस्ट डेस्टिनेशन डेवलप करने, लघु सिंचाई को कार्यो में निर्माण कार्यो तेजी लाने तथा शिक्षा विभाग को महत्वूर्ण कार्यो को प्राथमिकता पर पूरा कराने के साथ ही कार्यदायी विभागों को योजनाओं की रेग्यूलर माॅनिटरिंग करने के निर्देश दिए गए।



 जिलाधिकारी ने कहा किसी कारण से अगर कोई भी निर्माणदायी संस्था जिला योजना में अवमुक्त धनराशि खर्च नही कर पा रहे है तो वे धनराशि तत्काल सरेण्डर करें। ताकि इस धनराशि को जरूरतमंद विभागों को आवंटित किया जा सके। बैठक में निर्माणदायी एवं कार्यदायी विभागों के अधिकारियों ने जिलाधिकारी को निर्माण कार्यो की वित्तीय एवं भौतिक प्रगति से अवगत कराया।


इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी हंसादत्त पांडे, सीएमओ डा0 जीएस राणा, अर्थ एवं संख्याधिकारी आनंद सिंह जंगपांगी सहित जल निगम, जल संस्थान, लोनिवि, शिक्षा, पर्यटन, लघु सिंचाई, ग्रामीण निर्माण विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।