सीएम हेल्पलाईन के लंबित प्रकरणों का त्वरित निराकरण करें अधिकारी-कलेक्टर

 


सीएम हेल्पलाईन के लंबित प्रकरणों का त्वरित निराकरण करें अधिकारी-कलेक्टर
एक जिला-एक उत्पाद योजना के अंतर्गत उन्नतशील किसानो को हल्दी उत्पादन करने के लिए करें प्रोत्साहित- डॉ. सतेन्द्र सिंह, समय-सीमा की बैठक सम्पन्न
शहडोल | 14-दिसम्बर

   कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट डॉ. सतेन्द्र सिंह ने निर्देश दिए है कि जिले के सभी अधिकारी सीएम हेल्पलाईन के लंबित प्रकरणो का अधिकारी त्वरित निराकरण कराएं। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन प्राप्त शिकायतो का पृथक-पृथक अध्ययन कर अपने अधीनस्थ अधिकारियों एवं कर्मचारियों से निराकरण कराना सुनिश्चित करें एवं समय-सीमा की बैठक में साप्ताहिक समीक्षा प्रपत्र के साथ उपस्थित होना सुनिश्चित करें। बैठक में कलेक्टर ने धान उपार्जन  पर उपार्जित की गई धान की बरसात से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि, धान उपार्जन एवं परिवहन के कार्यों में प्रगति लाना सुनिश्चित करें।  नवीन पात्रता पर्ची का सत्यापन शत-प्रतिशत करने के निर्देश एसडीएम एवं तहसीलदार को देते हुए कहा कि, हर पात्र हितग्राही को शासन के योजना का लाभ मिलना चाहिए। कलेक्टर ने पूर्ण हो चुकी गौशाला को एक सप्ताह के अंदर संचालित करने के निर्देश देते हुए कहा कि, वर्ष 2020-21 के लिये नवीन गौशाला भूमि निर्माण के लिये भूमि का भी चयन करना सुनिश्चित करे।
   कलेक्टर ने मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत को पंचायत संबंधी एवं अपर कलेक्टर तथा संयुक्त कलेक्टर को राजस्व लंबित प्रकरणो का निराकरण कराने के निर्देश दिए। एक जिला-एक उत्पाद योजनांतर्गत हल्दी की उत्पादकता बढ़ाने के लिए उन्नतशील किसानो को हल्दी के उत्पादकता को बढ़ाने के लिए कृषक भ्रमण कार्यक्रम आयोजित कर उन्हें प्रशिक्षित एवं प्रोत्साहित करने के निर्देश सहायक संचालक श्री मदन सिंह परस्ते को देते हुए कहा कि हल्दी उत्पादन का रकबा बढ़ाना सुनिश्चित करें। उक्त निर्देश कलेक्टर डॉ. सतेन्द्र सिंह आज कलेक्टर कार्यालय के सभागार में आयोजित समय-सीमा की बैठक में अधिकारियों को दिए।
   कलेक्टर ने प्रधानमंत्री किसान कल्याण योजना एवं मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि शत-प्रतिशत लक्ष्य की पूर्ति सुनिश्चित करे। समय-सीमा की बैठक में कलेक्टर ने मुख्यमंत्री ग्रामीण एवं शहरी पथ विक्रेता योजना की समीक्षा करते हुए परियोजना अधिकारी शहरी विकास अभिकरण एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत को निर्देशित किया कि कार्य में गति प्रदान करते हुए प्रगति सुनिश्चित करें तथा पी.ओ. एन.एल.आर.एम. को निर्देशित किया कि, बैंकवार लंबित केसो को सूचीबद्व कर बैंको के अधिकारियो से सम्पर्क कर निराकरण कराना सुनिश्चित करे। कलेक्टर ने बैठक में निर्देशित किया कि नगरीय निकाय क्षेत्रो में अवैध अतिक्रमण को हटाया जाएा साथ ही अवैध रेत उत्खनन, खनिज माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही में प्रगति लाई जाए। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि, जिन मतदाताओ की उम्र 01 जनवरी 2021 की स्थिति में 18 वर्ष हो रही  है  उनके नाम प्रपत्र-6 में भरकर बीएलओ के माध्यम से जोड़ा जाए सभी एसडीएम, तहसीलदार एवं मुख्य नगरपालिका अधिकारी कार्य में प्रगति लाना सुनिश्चित करे। बैठक में कलेक्टर ने निर्देश दिए कि फु्रड आफिसर का अलग से व्हाटसएप ग्रुप बनाया जाए जिसमें सहकारिता, नॉन, जिला विपणन अधिकारी, खाद्य विभाग, खादय विभाग सभी के अधिकारियो एवं कर्मचारियो को जोडा जाए, जिससे समन्वय स्थापित हो सकें। बैठक में कलेक्टर ने ऑगनवाडी केन्द्रो, स्कूलो में विद्युत कनेक्षन, अध्ययन कक्षो में पंखो की व्यवस्था, पंचायत भवन परिसर की साफ-सफाई एवं स्वच्छता आदि की समीक्षा की।
   बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री पार्थ जायसवाल, अपर कलेक्टर श्री अर्पित वर्मा, संयुक्त कलेक्टर श्री दिलीप पाण्डये,  अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सोहागपुर श्री धर्मेन्द्र मिश्रा, कार्यपालन यंत्री एमपीईवी श्री मुकेश सिंह।
   सहायक आयुक्त आदिम जाति कल्याण विभाग श्री आर.के. श्रौती, कार्यपालन यंत्री पीएचई श्री एच.एस. धुर्वे, डीएम नॉन एम.एस. उपाध्याय जिला प्रबंधक सहकारी बैंक  श्री बाई.के. सिंह, उप संचालक कृषि श्री आर.के. झारिया, मुख्य नगर पालिका अधिकारी श्री अमित तिवारी, कार्यपालन यंत्री  आरईएस श्री आर.के. द्विवेदी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।