शिकायत के बाद भी कियोस्क संचालक के विरुद्ध नही की कार्रवाई

 कटनी से अरुण निगम की रिपोर्ट


शिकायत के बाद भी कियोस्क संचालक के विरुद्ध नही की कार्रवाई


ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को बैंकिंग सुबिधायें आसानी से मिल सकें इसके वास्ते शासन ने कियोस्क सेंटरों को स्थापित किया है किंतु बड़वारा सेंट्रल बैंक से महज चन्द कदम की दूरी पर स्थित सेंट्रल बैंक के कियोस्क बैंक में सेंट्रल बैंक बड़वारा के शाखा प्रवन्धक की सरपरस्ती में कियोस्क संचालिका के द्वारा खाता खुलवाने के नाम पर ग्राहकों से 120 रुपये की राशि खुलेआम ली जा रही है जिसकी लिखित शिकायत बड़वारा सेंट्रल बैंक के शाखा प्रवन्धक के समक्ष किये जाने के बावजूद कार्रवाई नही की जा रही है।

मामला बड़वारा मुख्यालय का है। बड़वारा निवासी राजकुमारी पति  मोनू कुम्हार अपने पति एवम बड़वारा की आशा कार्यकर्ता के साथ बड़वारा के सेंट्रल बैंक के कियोस्क बैंक में दिनांक 16 सितम्बर 2020 को खाता खुलवाने गई जहां पर कियोस्क बैंक की संचालिका गोनेन्द्र शर्मा के द्वारा राजकुमारी से 120 रुपये की राशि खाता खुलवाने के एवज में मांगी गई जिस पर राजकुमारी के पति ने कियोस्क संचालिका से 120 रुपये की रशीद की मांग की तो कियोस्क संचालिका गोनेन्द्र शर्मा भड़क गई और राजकुमारी के पति को फटकार लगा दी व  राजकुमारी के पति को पुलिस में देने की धमकी देने लगी। जिसकी शिकायत राजकुमारी कुम्हार अपने पति मोनू  कुम्हार के साथ बड़वारा सेंट्रल बैंक के शाखा प्रवन्धक आलोक रिछारिया के समक्ष दिनांक। 18,09,2020 को बैंक में  उपस्थित होकर लिखित  तौर पर की व कियोस्क संचालिका के ऊपर कार्रवाई की मांग की। गौरतलब है कि कियोस्क बैंक में खाता खुलवाने के लिए कितनी राशि ली जानी है एवम क्या क्या दस्तावेज लगने है इसकी जानकारी भी कियोस्क बैंक बड़वारा में चस्पा नही की गई है। सेंट्रल बैंक बड़वारा के कियोस्क बैंक की लोकेशन कहां की है यह भी शाखा प्रवंधक द्वारा नही बताई जा रही है  उक्ताशय की खबर समाचार पत्रों में भी प्रकाशित की गई ।

हरिभूमि प्रतिनिधि बड़वारा एवम नई दुनिया प्रतिनिधि बड़वारा ने जब ब्लाक कोर्डिनेटर दिलीप साहू से उनका पक्ष जानना चाहा तो उनका कहना था कि कियोस्क बैंक में खाता खुलवाने के बदले में कोई भी अतिरिक्त शुल्क लेने का प्रावधान नही है यदि कियोस्क संचालिका द्वारा खाता खुलवाने के लिए राशि ली जा रही है तो यह पूर्णतः गलत है।ब्लाक कोर्डिनेटर दिलीप साहू

  का कहना  है कि बड़वारा के सेंट्रल बैंक के कियोस्क संचालिका की काफी शिकायतें प्राप्त हुई है जिस पर मेरे द्वारा शाखा प्रवन्धक बड़वारा को कियोस्क बैंक बड़वारा बन्द करवाने के लिए  कई बार लिखा गया है   शाखा प्रवन्धक ही कियोस्क संचालिका के खिलाफ कार्रवाई करने हेतु अधिकृत  हैं।

बड़वारा के सेंट्रल बैंक के शाखा प्रवन्धक आलोक रिछारिया से जब पूछा गया कि कियोस्क बैंक की लोकेशन कहां की है तो उनका कहना था लोकेशन से क्या होता है काम होना चाहिए। जब यह जानना चाहा कि 18 सितम्बर 2020 को शिकायत कर्ता राजकुमारी कुम्हार पति मोनू कुम्हार ने आपके समक्ष उपस्थित होकर लिखित रूप से कियोस्क संचालिका के विरुद्ध शिकायत की है किंतु  दो माह का  वक्त व्यतीत हो जाने के बाद भी कार्रवाई क्यों नही की गई तो उनका कहना था कि हम कार्रवाई कर रहे हैं। जब कि वास्तविकता यह है कि शाखा प्रवन्धक कियोस्क संचालिका के खिलाफ शिकायत करने वाली राजकुमारी पति मोनू कुम्हार को बुलाकर कियोस्क संचालिका को बचाने के लिए शिकायत कर्ता और कियोस्क संचालिका के मध्य समझौता करवांना चाहते हैं । स्पष्ट है कि शाखा प्रवन्धक कियोस्क संचालिका के खिलाफ कार्रवाई न कर कियोस्क संचालिका को   मनमानी करने की खुली छूट दिए हुए  हैं।