जंगली जानवर कर रहे किसानों की फसल नष्ट शिकायत करने के बाद भी नहीं होती कार्यवाही
जंगली जानवर कर रहे किसानों की फसल नष्ट शिकायत करने के बाद भी नहीं होती कार्यवाही हडिया एक और सोयाबीन की खड़ी फसल में मौसम की बेरुखी के चलते बर्बादी की मार झेल चुके किसानों के सामने रवि की फसल एकमात्र कर्ज मुक्त करने का विकल्प दिखाई पड़ रही है ऐसे में प्रतिदिन जंगली सूअरों से किसानों के होने वाले नुकसान को देखते हुए हडिया तहसील क्षेत्र के किसान इन दिनों खासे परेशान दिखाई पड़ रहे हैं किसानों का कहना है कि जंगली सूअर सारी सारी रात खेतों में उगी हुई फसल को बुरी तरह से तहस-नहस कर बड़े-बड़े गड्ढे खोदे रहे हैं जिससे किसानों को प्रति वर्ष हजारों रुपए के नुकसान का सामना करना पड़ता है कृषक शरण तिवारी ने बताया कि वन विभाग द्वारा जंगली जानवरों से किसानों को खेतों में होने वाली फसल के नुकसान की भरपाई का नियम होने के बाद भी इस संबंध में वन विभाग तहसील कार्यालय को लिखित रूप से शिकायत करने के बाद भी आज तक किसानों की शिकायत पर कोई कार्यवाही नहीं हुई जिससे मायूस किसान डरा सहमा अपनी फसलों की बर्बादी का तमाशा देख रहा है