मृदा के स्वास्थ्य की करें निगरानी

 


मृदा के स्वास्थ्य की करें निगरानी
दमेहड़ी में किसान मेले का आयोजन, मृदा हेल्थ कार्ड की दी जानकारी
अनुपपुर | 09-दिसम्बर

स्वस्थ मृदा से बेहतर पैदावार हम अर्जित कर सकते हैं। मृदा की गुणवत्ता बनाए रखने के लिए हमें जरूरी है कि समय-समय में मिट्टी में मौजूद पोषक तत्वों की जांच कराते रहें। शासन ने किसानों के हितों के मद्देनजर ही मृदा हेल्थ कार्ड को लागू किया है। शासन का मुख्य ध्येय किसानों को कृषि में लाभ दिलाना है और इसके लिए निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। यह बात मृदा वैज्ञानिक डॉ. अनीता ठाकुर ने मृदा दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित किसान मेले में कही।
इन्दिरा गाँधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय, अमरकण्टक के कृषि विज्ञान केंद्र एवं कृषि कल्याण एवं कृषि विभाग के संयुक्त तत्वाधान द्वारा मृदा स्वास्थ दिवस के अवसर पर ग्राम दम्हेडी मे किसान मेला का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य कृषकों को मृदा स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना था। इस कार्यक्रम में कृषि विज्ञान केन्द्र अमरकन्टक की मृदा वैज्ञानिक डॉ. ठाकुर द्वारा किसानों को मृदा परीक्षण के बारे में जानकारी दी गई। साथ ही किसान को मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना के बारे मे भी बताया। उनके द्वारा ग्राम चिल्हारी के लगभग 50 किसानों के मृदा के नमूने की जांच प्रयोगशाला में की गई एवं किसानों के मृदा स्वास्थ कार्ड बनाकर दिये गये। ंकार्यक्रम में किसानों को कृषि से सम्बंधित समसामयिक जानकारी दी गई। साथ ही किसानों को मृदा परीक्षण से होने वाले फायदे के बारे में बताया गया। विभागीय अधिकारियों ने मृदा परीक्षण के आधार उर्वरक एवं खाद का संतुलित उपयोग कर कृषि में उचित मुनाफा कमाने पर भी विस्तार से जानकारी दी। किसान मेले में बड़ी संख्या में क्षेत्र के किसान और जनप्रतिनिधि मौजूद रहे।