समर्थ नर्मदा गौ सत्याग्रह के समर्थन में होशंगाबाद जिले के सभी धार्मिक सामाजिक साहित्यिक शैक्षिक संगठनों के पदाधिकारियों सहित हज़ारों नर्मदा भक्तों ने नर्मदा मिशन के साथ माननीय मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन दिया । माँ नर्मदा को बचाने के लिए समर्थ सद्गुरुभैयाजी सरकार द्वारा पिछले 61 दिनों से अन्न आहार त्याग कर नर्मदा और गौमाता के संरक्षण संवर्धन के लिये अनशन किया जा रहा है समर्थ सद्गुरु श्री भैयाजी सरकार की हालत गम्भीर होने के कारण उन्हें ICU में एडमिट किया गया है जैसे ही ये खबर होशंगाबाद के सभी नर्मदा भक्तों तक पहुँची शासन प्रशासन के उदासीन रवैये को देखकर सभी नर्मदा गौ भक्त एकत्र हुए और अपनी आवाज़ मुख्यमंत्री तक पहुंचाने के लिये एकमत हुए। इस तारतम्य में होशंगाबाद जिले के सर्व धर्म सम्प्रदाय तथा अनेक धार्मिक सामाजिक शेक्षिक साहित्यिक संगठनों के पदाधिकारियों सहित हज़ारों नर्मदा भक्तों ने एकत्र होकरआज 16 दिसम्बर को समर्थ नर्मदा गौ सत्याग्रह के समर्थन में नर्मदा मिशन के साथ माननीय कलेक्टर महोदय को ज्ञापन सौपा। यदि जल्दी ही प्रशासन द्वारा कोई निर्णय नहीं लिया गया तो यह सत्याग्रह जनांदोलन के रूप में राष्ट्रव्यापी वृहत स्तर पर होगा।



 समर्थ  नर्मदा गौ सत्याग्रह के समर्थन में होशंगाबाद जिले के सभी धार्मिक सामाजिक साहित्यिक शैक्षिक संगठनों के पदाधिकारियों सहित हज़ारों  नर्मदा भक्तों ने  नर्मदा मिशन के साथ माननीय मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन दिया ।

माँ नर्मदा को बचाने के लिए समर्थ सद्गुरुभैयाजी सरकार द्वारा  पिछले 61 दिनों  से अन्न आहार त्याग कर नर्मदा और गौमाता के संरक्षण संवर्धन के लिये अनशन किया जा रहा है  समर्थ सद्गुरु श्री भैयाजी सरकार की हालत गम्भीर होने के कारण उन्हें ICU में एडमिट किया गया है  जैसे ही ये खबर होशंगाबाद के सभी नर्मदा भक्तों तक पहुँची  शासन प्रशासन  के  उदासीन रवैये को देखकर सभी नर्मदा गौ भक्त   एकत्र हुए  और अपनी आवाज़ मुख्यमंत्री तक पहुंचाने के लिये एकमत हुए।
इस तारतम्य में होशंगाबाद जिले के सर्व धर्म सम्प्रदाय तथा अनेक धार्मिक सामाजिक शेक्षिक साहित्यिक संगठनों  के पदाधिकारियों सहित हज़ारों नर्मदा भक्तों ने  एकत्र होकरआज 16 दिसम्बर को समर्थ नर्मदा गौ सत्याग्रह के समर्थन में नर्मदा मिशन के साथ  माननीय कलेक्टर महोदय को ज्ञापन सौपा। यदि जल्दी ही प्रशासन द्वारा कोई निर्णय नहीं लिया गया तो यह सत्याग्रह जनांदोलन के रूप में राष्ट्रव्यापी वृहत स्तर पर होगा।