कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम का क्रियान्वयन संबंधी व्यवस्थायें सुनिश्चित करें- कलेक्टर श्री सुमन

 


कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम का क्रियान्वयन संबंधी व्यवस्थायें सुनिश्चित करें- कलेक्टर श्री सुमन
कलेक्टर द्वारा वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से दिये गये दिशा निर्देश
छिन्दवाड़ा | 
   कलेक्टर श्री सौरभ कुमार सुमन ने निर्देश दिए कि जिले में आगामी समय में कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम का क्रियान्वयन किये जाने के संबंध में सभी व्यवस्थाओं को अभी से सुनिश्चित करें। इसके लिये सभी एस.डी.एम. टास्क फोर्स की बैठक लेकर बी.एम.ओ. और अन्य संबंधित अधिकारियों के साथ समीक्षा करें कि वैक्सीन सुरक्षित रखे जाने के लिये फ्रीजर और अन्य सामग्री की व्यवस्था क्या है। यह निर्देश कलेक्टर श्री सुमन ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष से आयोजित वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से सभी संबंधित अधिकारियों को दिए। इस वीडियो कॉन्फ्रेंस में विभिन्न महत्वपूर्ण समसामयिक विषयों पर चर्चा और फ्लैगशिप योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की गई। बैठक में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री गजेंद्र सिंह नागेश, अतिरिक्त कलेक्टर श्रीमती रानी बाटड, एस.डी.एम. छिन्दवाड़ा श्री अतुल सिंह और सौंसर श्री कुमार सत्यम, डिप्टी कलेक्टर श्री अजीत तिर्की, आयुक्त नगर निगम श्री हिमांशु सिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.जी.सी.चौरसिया, जिला आपूर्ति अधिकारी श्री जी.पी.लोधी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत व तहसीलदार छिंदवाड़ा सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे, जबकि अन्य सभी एस.डी.एम., तहसीलदार और क्षेत्रीय अधिकारी वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से बैठक में शामिल हुए।
   कलेक्टर श्री सुमन ने निर्देश दिए कि पी.एम. किसान सम्मान निधि और सी.एम. किसान कल्याण योजना के अंतर्गत सत्यापन का कार्य गति के साथ पूर्ण करें। इस कार्य को अनावश्यक लंबित नहीं रखें। नवीन जनरेट पात्रता पर्ची और खाद्यान्न का शत-प्रतिशत वितरण सुनिश्चित करें। उन्होंने सभी तहसीलदारों को जिले के सभी धान उपार्जन केंद्रों का निरीक्षण कर वहां छाया, पेयजल सहित अन्य व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने और कृषकों की समस्याओं का निराकरण कराने के निर्देश दिए। वीडियो कांफ्रेंस में स्ट्रीट वेंडर योजना, 15 जनवरी को प्रदेश में एक साथ आयोजित होने वाले संभावित रोजगार मेले, सी.एम.हेल्पलाइन, वन अधिकार पट्टा आदि विषयों पर भी चर्चा करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। उन्होंने निर्देश दिये कि जिले में मिलावट से मुक्ति और कालाबाजारी के विरूध्द सघन रूप से अभियान चलायें। जिले के सभी खाद्य निरीक्षक  प्रतिदिन संबंधित एस.डी.एम. से संपर्क करें और खाद्य पदार्थों के प्रतिदिन कम से कम 25 सैंपल जांच हेतु लिए जाएं। इसके अलावा प्रतिदिन पर्याप्त संख्या में सैंपल लेते हुए वैधानिक कार्यवाही भी करें। उन्होंने फोटो निर्वाचक नामावली के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत लक्ष्य के अनुसार दावे/आपत्ति प्राप्त करने तथा आगामी 19 और 20 दिसंबर को दावे/आपत्ति प्राप्त करने के संबंध में मतदाता जागरूकता के लिये विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिये। उन्होंने सभी हितग्राहियों के शीघ्रता से आयुष्मान कार्ड बनाने के निर्देश भी दिये। उन्होंने प्राकृतिक आपदा के प्रकरणों में हितग्राहियों को समय पर राहत राशि उपलब्ध कराने के लिये कहा तथा प्राकृतिक आपदा के प्रकरणों में पी.एम.रिपोर्ट शीघ्र उपलब्ध कराने के लिये संबंधित चिकित्सकों को निर्देशित करने के निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिये।