खाद्य पदार्थों में मिलावट से मुक्ति अभियान
खाद्य पदार्थों में मिलावट से मुक्ति अभियान
संयुक्त जांच दल ने डियरियों की जांच की, 34 नमूने एकत्र
बालाघाट | 12-नवम्बर


     खाद्य पदार्थों में मिलावट से मुक्ति अभियान के अंतर्गत कलेक्टर श्री दीपक आर्य के निर्देशानुसार खाद्य एवं औषधि प्रशासन, पुलिस, राजस्व विभाग, नगरपालिका आपूर्ति विभाग के संयुक्त दल द्वारा 11 नवंबर 2020 को नगरीय क्षेत्र बालाघाट शहर की 6 डेरियो का निरीक्षण किया गया है।
     खाद्य सुरक्षा अधिकारी श्री योगेश डोंगरे ने बताया कि संयुक्त दल द्वारा दमाहे दूध डेयरी, कृष्णा डेयरी, अरिहंत डेयरी, गुड़िया डेयरी, न्यू गुड़िया डेयरी एवं सिद्धिविनायक डेयरी पर मैजिक बॉक्स की सहायता से कुल 34 नमूने जांच हेतु लिए एकत्र किये गए एवं गुड़िया डेयरी पर अनियमितता के चलते धारा 32 का नोटिस जारी किया गया। प्रयोगशाला जांच के लिए दमाहे दूध डेयरी से खोवा एवं पनीर तथा अन्य डेयरियों से खोवा, दूध, बर्फी मलाई, बर्फी पेड़ा, छेना, कलाकंद पनीर आदि के नमूने एकत्र किये गये है।

10 रूपए शुल्क देकर करवाई जा सकेगी जाँच

     प्रदेश में मिलावट से मुक्ति अभियान के अंतर्गत पहली बार बहुत मामूली शुल्क पर खाद्य पदार्थ की जाँच की सुविधा प्रारंभ हुई है। आम नागरिक चलित खाद्य प्रयोगशाला से अपनी किसी भी खाद्य पदार्थ की जाँच 10 रूपए के शुल्क से करा सकेंगे। सभी जिलों में स्वास्थ्य विभाग ने मैजिक बॉक्स (रेपिड टेस्टिंग किट) उपलब्ध करवाए हैं, जिनसे खाद्य पदार्थों की प्राथमिक जाँच की जा सकती है। चलित प्रयोगशाला और मैजिक बॉक्स की व्यवस्था से लोगों को जाँच विधियों से भी अवगत करवाया जाएगा। इससे खाद्य पदार्थों की जाँच पर घर पर ही की जा सकेगी।