जिले में मिलावट से मुक्ति अभियान अंतर्गत जिला प्रशासन द्वारा की गई प्रभावी कार्रवाई, मिलावट खोरों के खिलाफ कार्रवाई रहेगी निरंतर जारी

होशंगाबाद- जिले में मिलावट से मुक्ति अभियान अंतर्गत जिला प्रशासन द्वारा की गई प्रभावी कार्रवाई, मिलावट खोरों के खिलाफ कार्रवाई रहेगी निरंतर जारी
प्रशासनिक टीम द्वारा खाद्य प्रतिष्ठानों की गई सघन जांच अभियान जारी,
अब नहीं होगा आम नागरिकों द्वारा उपयोग किए जाने वाले खाद्य पदार्थों जैसे दूध ,घी , मावा,पनीर , मिठाइयां, मिर्च मसाले, इत्यादि  पदार्थों में मिलावट को रोकने ,जन स्वास्थ्य को कोई खतरा उत्पन्न ना हो एवं आम नागरिकों को उचित मूल्य पर उच्चतम क्वालिटी के खाद्य पदार्थ उपलब्ध हो सके इस हेतु राज्य शासन द्वारा मिलावट से मुक्ति अभियान चलाया जा रहा है।            
शासन निर्देशों के अनुक्रम में जिला प्रशासन होशंगाबाद द्वारा मिलावट से मुक्ति अभियन अंतर्गत लगातार प्रभावी कार्रवाई की जा रही है। कलेक्टर धनंजय सिंह द्वारा  मिलावट से मुक्ति अभियान की लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है, 17 नवंबर मंगलवार को संपूर्ण जिले में राजस्व ,खाद्य एवं औषधि प्रशासन व नगरीय प्रशासन की टीम द्वारा प्रभावी कार्रवाई की गई । अनुविभाग  मे एसडीएम सुश्री भारती मेरावी के नेतृत्व में राजस्व , खाद्य एवं औषधि प्रशासन  की टीम द्वारा अशोक पोहा मिल की सघन जांच की गई । जांच में खाद्य सामग्री एवं खाने का तेल  पुरानी एक्सपायरी डेट का पाया गया। जांच के दौरान पुरानी एक्सपायरी डेट की सामग्री जप्त कर सैंपल कलेक्शन की कार्रवाई की गई। इसी तरह अनुविभाग पिपरिया एसडीएम नितिन  टाले के नेतृत्व में राजस्व एवं नगर पालिका की संयुक्त टीम द्वारा  दो खाद्य प्रतिष्ठानों मनोहर किराना एवं नितिन ट्रेडर्स पर सघन जांच कर कार्रवाई की। जांच में लड्डू, बर्फी, मिठाइयां, चाकलेट आदि  खाद्य सामग्रियां पर  एक्सपायरी डेट अंकित ना होने व खाद्य सामग्री पुरानी होने पर लगभग 9 क्विंटल खाद्य सामग्री जप्त की गई। अनुविभाग सोहागपुर में एसडीएम श्रीमती वंदना जाट के नेतृत्व में राजस्व की टीम द्वारा सुहागपुर एवं शोभापुर के विभिन्न प्रतिष्ठानों की जांच की गई। जांच में   एक्सपायरी डेट निकल चुके खाद्य सामग्रियों को मौके पर ही नष्ट किया गया एवं 5 किलो मावा जप्त कर सैंपल लेने की कार्रवाई की गई। साथ ही 77 अवैध रूप से रखे गैस सिलेंडर जब्त किए गए। अनुविभाग सिवनी मालवा एवं इटारसी में भी राजस्व की टीम द्वारा विभिन्न खाद्य प्रतिष्ठानों की सघन जांच कर सैंपलिंग की कार्यवाही की गई।
उल्लेखनीय है कि जिला प्रशासन द्वारा मिलावट से मुक्ति अभियान अंतर्गत लगातर कार्यवाही की जाएगी। कलेक्टर धनंजय सिंह द्वारा मिलावट से मुक्ति अभियान के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु  राजस्व , पुलिस , स्वास्थ्य , नगरीय प्रशासन एवं खाद्य एवं औषधि प्रशासन आदि संबंधित विभागों के आपसी समन्वय एवं अभियान के उचित क्रियान्वयन हेतु अनुविभाग स्तर पर एसडीएम की अध्यक्षता में दल गठित किए गए है। जिनके द्वारा मिलावट के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई की जा रही है। खाद्य पदार्थों में मिलावट के संबंध में आमजन दे सकेंगे सूचना आमजन खाद्य पदार्थों में मिलावट के संबंध में सूचना संबंधित क्षेत्र के एसडीएम, तहसीलदार व थाना प्रभारी को दे सकेंगे। सूचना देने वाले ऐसे व्यक्ति की पहचान पूरी तरह गोपनीय रखी जाएगी, एसडीएम भारती मेरावी से पूछने पर बताया कि यह कार्रवाई आगे भी निरंतर जारी रहेगी।